मां के लिए विचार, कविता या पंक्तिया for Whatsapp and facebook .

मां दुनियां की सबसे खूबसूरत चीज है | कहते हैं कि भगवान दुनिया में हर जगह तो नहीं जा सकता इसलिए उसने मां को बनाया.

✍🏼 एक बार राधा जी ने कृष्णा से पूछा :
      गुस्सा क्या है..?

✍🏼 बहुत खुबसूरत जवाब मिला :
      किसी की गलती की सजा
      खुद को देना..!

✍🏼 एक बार राधा ने कृष्णा से पूछा :
     दोस्त और प्यjार में क्या
     फर्क होता है..?oh jkkj#koik kjjkh it

✍🏼 कृष्णा हंस कर बोले :
       प्यार सोना हj####j##huuuै..
      और दोस्त हीरा..
      सोना टूट कर go बन सकता है..
      मगर हीरा नहीं..!
Iuuiu to jjjjt 4thj
✍🏼 एक बार राधा जी ने कृष्णा से पूछा :
      मैं कहाँ कहाँ हूँ..?

✍🏼 कृष्णा ने कहा :
     तुम मेरे दिल में..
     साँस में..
     जिगर में..
     धड़कन में..
     तन में..
     मन में..
     हर जगह हो..!

✍🏼 फिर राधा जी ने पूछा :
      मैं कहाँ नहीं हूँ..?

✍🏼 तो कृष्णा ने कहा :
      मेरी किस्मत में..!

✍🏼 राधा ने श्री कृष्णा से पूछा :
     प्यार का असली मतलब क्या
     होता है..?

✍🏼 श्री कृष्णा ने हंस कर कहा :
      जहाँ मतलब होता है..
      वहां प्यार ही कहाँ होता है..!

✍🏼 एक बार राधा ने कृष्णा से पूछा :
      आपने मुझे प्रेम किया..
      लेकिन शादी रुकमणी से की..
      ऐसा क्यों..?

✍🏼 कृष्णा ने हँसते हुए कहा : राधे !
      शादी में दो लोग चाहिए….
      और हम तो एक हैं….।

😀😀😀😀😀😀😃😃😃

✍🏼 ये special smile है,
 इसे आप उन लोगों को
send kro जिन्हें आप
 कभी उदास नहीं देखना चाहते ।
मैंने तो कर दिया ।
अब आपकी मर्जी….🙏🏻

Beautiful line for Mom…

Aziz bhi wo hai,
Nasib bhi wo hai,
Duniya ki bheed mein karib bhi wo hai,
Unki dua se chalti hai zindagi kyun ki khuda bhi wo hai,
aur takdir bhi wo hai..
M=(Mom)
U=(U Live)
M=(Many)
M=(More)
Y=(Years)
Maa ki lambi umar k liye 👥5 logo ko send kro
…..,
Muje pata hai aap jarur kroge.😊
*MAA. MAA. MAA 💖
 💖Ek Aisi Hasti Hai*

*SAMANDAR NE KAHA*

              💖MAA
        Ek Aisi Hasti Hain
Jo Aulad Ke Lakho Raaz.
       Apne Seene Mein.      
      Chhupa Leti Hain.
_________________________

        *Dua NE KAHA*

                💖MAA
      Wo Shaksiyat Hain
            Jo Har Waqt
       Aulad Ke Liye Dua
    Mangti Rehti Hain
_________________________

   *JANNAT NE KAHA*

             💖MAA
          Wo Hasti Hain
        Jo Main Bhi Uske
    Qadmon Tale Hoon
_________________________

       *GHAR NE KAHA*

               💖MAA
            Wo Hasti Hain
        Jiske Bagair Main.  
        Kabristaan Hoon
_________________________

*KHUSHBU NE KAHA*

            💖MAA
        Wo Hasti Hain
       Jiski Khushbu
         Se Sara Jahan
Mahek Uthta Hain
_________________________

            💖MAA
    Wo Shaksiyat Hain
      Jo Meri Taraf Se
    Nayab Tohfa Hain                        
_________________________

    VALUE & RESPECT UR
       💖M O T H E R
      A.   L.   W.   A.   Y.   S

Happy mother’s

: बहुत ही सुंदर पंक्तियां भेजी है, फारवर्ड करने से खुद को रोक नहीं पाया ….

जब भी अपनी शख्शियत पर अहंकार हो,
एक फेरा शमशान का जरुर लगा लेना।

और….

जब भी अपने परमात्मा से प्यार हो,
किसी भूखे को अपने हाथों से खिला देना।

जब भी अपनी ताक़त पर गुरुर हो,
एक फेरा वृद्धा आश्रम का लगा लेना।

और….

जब भी आपका सिर श्रद्धा से झुका हो,
अपने माँ बाप के पैर जरूर दबा देना।

जीभ जन्म से होती है और मृत्यु तक रहती है क्योकि वो कोमल होती है.

दाँत जन्म के बाद में आते है और मृत्यु से पहले चले जाते हैं…
  क्योकि वो कठोर होते है।

छोटा बनके रहोगे तो मिलेगी हर
बड़ी रहमत…
बड़ा होने पर तो माँ भी गोद से उतार
देती है..
किस्मत और पत्नी
भले ही परेशान करती है लेकिन
जब साथ देती हैं तो
ज़िन्दगी बदल देती हैं.।।

“प्रेम चाहिये तो समर्पण खर्च करना होगा।

विश्वास चाहिये तो निष्ठा खर्च करनी होगी।

साथ चाहिये तो समय खर्च करना होगा।

किसने कहा रिश्ते मुफ्त मिलते हैं ।
मुफ्त तो हवा भी नहीं मिलती ।

एक साँस भी तब आती है,
जब एक साँस छोड़ी जाती है!!”?.:  🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱

नंगे पाँव चलते “इन्सान” को लगता है
कि “चप्पल होते तो क अच्छा होता”
बाद मेँ……….
“साइकिल होती तो कितना अच्छा होता”
उसके बाद में………
“मोपेड होता तो थकान नही लगती”
बाद में………
“मोटर साइकिल होती तो बातो-बातो मेँ
रास्ता कट जाता”

फिर ऐसा लगा की………
“कार होती तो धूप नही लगती”
🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀
फिर लगा कि,
“हवाई जहाज होता तो इस ट्रैफिक का झंझट
नही होता”
🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱
जब हवाई जहाज में बैठकर नीचे हरे-भरे घास के मैदान
देखता है तो सोचता है,
कि “नंगे पाव घास में चलता तो दिल
को कितनी “तसल्ली” मिलती”…..
🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀
” जरुरत के मुताबिक “जिंदगी” जिओ – “ख्वाहिश”….. के
मुताबिक नहीं………
🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱
क्योंकि ‘जरुरत’
तो ‘फकीरों’ की भी ‘पूरी’ हो जाती है, और
‘ख्वाहिशें’….. ‘बादशाहों ‘ की भी “अधूरी” रह जाती है”…..
🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀
“जीत” किसके लिए, ‘हार’ किसके लिए
‘ज़िंदगी भर’ ये ‘तकरार’ किसके लिए…
🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱
जो भी ‘आया’ है वो ‘जायेगा’ एक दिन
फिर ये इतना “अहंकार” किसके लिए…
🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀
ए बुरे वक़्त !
ज़रा “अदब” से पेश आ !!
“वक़्त” ही कितना लगता है
“वक़्त” बदलने में………
🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱

मिली थी ‘जिन्दगी’ , किसी के
‘काम’ आने के लिए…..
पर ‘वक्त’ बीत रहा है , “कागज” के “टुकड़े” “कमाने” के लिए………
🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱🍀🌱

         ,       forwad to all family and friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *