सन् १८४० में काबुल में युद्ध में ८००० पठान मिलकर भी १२०० राजपूतो का मुकाबला १ घंटे भी नही कर पाये वही इतिहासकारो का कहना…